वृषभ राशि वार्षिक भविष्यफल 2020 :

वृषभ राशि वार्षिक भविष्यफल 2020 :
 
वृषभ राशिफल 2020 के अनुसार नया साल आपके लिये काफी अच्छा रहने के आसार हैं। आपका वार्षिक राशिफल कहता है कि यह साल आपके लिये नई सफलताएँ, नई उपलब्धियों वाला रहेगा। इसका कारण है कि वर्ष 2020 की शुरुआत के समय आपकी राशि के स्वामी शुक्र आपकी राशि से भाग्य स्थान में विराजमान हैं जो कि आपके लिये इस वर्ष को बहुत ही उज्जवल व उन्नति वाला वर्ष रहने के संकेत कर रहे है। वहीं आपकी राशि से अष्टम भाव में पंचग्रही योग एक महायोग बना रहा है जो कि आपके लिये शुभाशुभ प्रभाव डालने वाला रहेगा। मंगल का आपकी राशि से सप्तम भाव में स्वराशिगत होना आपके लिये 2020 में वैवाहिक जीवन और व्यापार में सफलता मिलने के योग भी आपके लिये बना रहा है।
 
वर्षांरंभ के समय भाग्य के कारक शनि अपने से 12वें स्थान में होने से आपके भाग्य को थोड़ा कमजोर कर रहे हैं जिससे कि हो सकता है पिछले कुछ समय से आपके कार्य बनते-बनते अटक रहे हों। इस समय आप पर शनि की ढ़ैय्या भी चल रही है। ऐसे में आपको थोड़ा धैर्य, थोड़े विवेक से काम लेने की आवश्यकता रहेगी। क्योंकि 24 जनवरी से शनिदेव भाग्य स्थान में ही विराजमान होंगे जो कि आपके भाग्योद्य का कार्य करेंगें साथ ही आपको शनि की ढ़ैय्या से मुक्ति इस समय मिल जायेगी। इस तरह आगामी समय आपके लिये काफी सुखद रहने की उम्मीद कर सकते हैं।
 
2020 वर्ष की शुरुआत के समय ही गुरु का अष्टम भाव में अष्टमेष होकर विराजमान होना आपको सेहत का ध्यान रखने की ओर संकेत कर रहा है। जाहिर है इस समय आप अपने खान-पान का ध्यान न रख पाएं। पेट संबंधी समस्याओं का ध्यान रखें। बढ़ता हुआ वज़न भी आपके लिये एक समस्या हो सकता है। हालांकि बृहस्पति की 9वीं दृष्टि आपके सुख भाव पर पड़ रही है जिससे आपके लिये घर में सुख सुविधाओं में बढ़ोतरी के संकेत भी मिल रहे हैं। आप यदि अपना घर खरीदने की लंबे समय से योजना बना रहे हैं, कोई नया वाहन खरीदना चाहते हैं तो इस समय अपनी इन इच्छाओं को पूरा कर सकते हैं। घर में सुख सुविधाओं को बढ़ाने के लिये भी आप प्रयासरत हो सकते हैं। यदि पिछले कुछ दिनों से माता की सेहत के प्रति चिंतित हैं तो इस समय सुधार दिखाई देगा जिससे आपको राहत मिलेगी।
 
30 मार्च को गुरु भाग्य के स्थान में आ जाएंगे जहां पर पहले से ही भाग्य का शनि विराजमान है। भाग्य स्थान में गुरु व शनि की युति से बहुत ही शुभ संयोग आपके लिये बन रहे हैं। नीच भंग राजयोग भी इस समय आपकी राशि के लिये बन रहा है जो कि आपके लिये अपार सफलता के द्वार खोलने वाला रहेगा। शनि आपके लिये कर्मभाव के स्वामी भी हैं। बृहस्पति को अच्छा सलाहकार माना जाता है इसलिये शनि के साथ गुरु के होने से आपको लाइफ के हर पहलु पर अच्छे सुझाव मिल सकते हैं।
 
मई के लगभग दूसरे सप्ताह के मध्य तक का समय आपके लिये शुभ कहा जा सकता है लेकिन उसके पश्चात पहले शनि और उसके बाद गुरु क्रमश: 11 व 14 मई को वक्री हो रही हैं। शनि व गुरु की चाल उल्टी होने से आपको थोड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। कार्यों में धीमापन आ सकता है। भाग्य का साथ भी आपको इस समय कम ही मिलेगा। धन निवेश के मामले में कोई जोखिम न उठाएं। विशेषकर शेयर बाज़ार में निवेश करने वाले जातक सतर्क रहें। कोई नई डील इस समय करेंगें तो हो सकता है आपको उसमें अपेक्षित लाभ न मिले। इस समय विद्वान ज्योतिषाचार्यों से परामर्श लेकर ही आगे बढ़ना आपके लिये सही रहेगा।
 
जून के अंत में गुरु पुन: धनु राशि में आ जाएंगें इस समय आपके रूके हुए कार्यों के सिरे चढ़ने के आसार बनने लगेंगें।
 
सितंबर तक हालात मिलेजुले रहने की उम्मीद कर सकते हैं। 13 सितंबर को बृहस्पति मार्गी हो जाएंगें। जिससे आप स्वयं में एक सकारात्मक उर्जा महसूस करेंगें। भाग्य का भी आपको इस समय से पूर्ण सहयोग मिलने लगेगा। कार्यों में सफलता मिल सकती है। लंबित कार्य पूरे होने के आसार भी बनेंगें।
 
23 सितंबर को राहु अपनी उच्च मानी जाने वाली (मूल त्रिकोण) राशि यानि आपकी ही राशि में प्रवेश करेंगें जो कि आपके हुनर को निखारने में आपकी सहायता करेंगें। इस समय आप अपनी क्षमताओं की पहचान कर अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकते हैं जिसके लिये आपको प्रशंसा व पुरुस्कार दोनों मिल सकते हैं। जमीन जायदाद का सुख भी आपको मिल सकता है। विशेषकर पैतृक संपत्ति आपको मिल सकती है। राजकीय सम्मान की प्राप्ति भी आपको राहु दिलवा सकते हैं। जो जातक उच्च शिक्षा हासिल करना चाहते हैं, किसी प्रतिष्ठित संस्थान से कोई प्रोफेशनल डिग्री करने की सोच रहे हैं उन्हंश भी सफलता मिल सकती है।
 
इसी समय केतु भी अपनी राशि बदलकर आपकी राशि से सप्तम भाव में आ जाएंगें। पर्सनल लाइफ में आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। दांपत्य जीवन पर को केतु नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकते हैं। आपके लिये अचानक से रिश्ते बनेंगें और अचानक से ही बने बनाए रिश्ते टूटने की कगार पर भी पंहुच सकते हैं।
 
सितंबर के आखिर में शनि मार्गी हो जाएंगें जिससे भाग्य का फिर से आपको साथ मिलने लगेगा। कामकाज में तेजी आएगी। अपनी कामकाजी व्यस्तता के चलते हो सकता है आप अपनी पर्सनल लाइफ की ओर थोड़ा कम ध्यान दे पाएं। हमारी सलाह है कि पर्सनल व प्रोफेशनल लाइफ में जितना हो सके संतुलन बनाकर चलें।
 
नवंबर के उतर्राध में गुरु के मकर राशि में आते ही पुन; नीच भंग राजयोग का लाभ आपको मिलने लगेगा। कुल मिलाकर वृषभ राशि वालों के लिये वार्षिक राशिफल 2020 की हैप्पी एंडिंग के संकेत कर रहा है।
 
 
वृषभ राशिफल 2020 के अनुसार प्रभावी उपाय :
• शिक्षा हेतु बच्चों के लिए पढ़ाई के समय आने वाले व्यवधान को कम करने के लिए तथा उनकी एकाग्रता भंग ना हो इसके लिए बुधवार के दिन प्रातः काल गाय को चारा डालें तथा उसको अपने हाथ से खिलाने के पश्चात ही आप आगे बढ़ें।
• शारीरिक स्वास्थ्य में आ रहे अवरोध को समाप्त करने के लिए शुक्र देव के मंत्र का जाप करें।
• दांपत्य जीवन को सुखमय बनाने के लिए हनुमान जी के मंदिर में दो मुखी घी का दीपक प्रज्वलित करें तथा अपने माथे पर सिंदूर का तिलक लगाएं।
• कार्य में प्रगति के लिए तथा आ रही रुकावट को दूर करने के लिए 21 बृहस्पतिवार तक ब्राह्मणों को भोजन कराएं तथा 21वें बृहस्पतिवार को दान और दक्षिणा देकर उनका आशीर्वाद ग्रहण करें।
• धन प्राप्ति, रुके हुए धन की वापसी के लिए नील कमल से अपने इष्ट देव की पूजा करें ।
• यदि भूमि विक्रय करने से संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है तो नवरात्रि में छोटी कन्याओं को वस्त्र भेंट करें, कुछ खाने की चीजें दें तथा पीले चंदन और केसर का अपने माथे पर तिलक लगाएँ।
• शुक्र यन्त्र की स्थापना करें।
• दुर्गा जी के 32 नामों का पाठ करें।
 
 

तंत्राचार्य –

हर समस्या का स्थायी और 100% समाधान के लिए संपर्क करे : मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

Website : http://www.srimaakamakhya.com

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply