भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी :

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी :
 
नाम - नरेंद्र दामोदरदास मोदी
जन्म तिथि- 17 सितंबर 1950
जन्म स्थान- मेहसाणा गुजरात
जन्म समय- प्रात: 11:00 बजे
लग्न – वृश्चिक, चन्द्र राशि – वृश्चिक, नक्षत्र – अनुराधा
 
स्वच्छ, साफ-सुथरी छवि के धनी तथा कर्मठ जुझारू नेता नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को मेहसाना (गुजरात )में वृश्चिक लग्न कर्क नवांश वृश्चिक राशि में हुआ। आपकी छवि ईमानदार होने के साथ-साथ कट्टर हिन्दूवादी नेता के रूप में है।
 
इस छवि से सिर्फ भारत देश ही नहीं, पूरे विश्व में अपनी छवि का डंका बजाने आप कामयाब हो सकते हैं। आपकी दो टूक वाली बात का राज आपकी पत्रिका में स्थित मंगल को जाता है। आपकी पत्रिका में मंगल लग्न में स्वराशि वृश्चिक का सौम्य होकर भाग्य के स्वामी चन्द्रमा के साथ है। पत्रिका में चन्द्र नीच का है लेकिन मंगल के साथ होकर बैठने से चन्द्र का नीच भंग हो गया है। इसके कारण आप अत्यंत भाग्यशाली है। मंगल केन्द्र में स्वराशि का होने से रूचक योग बना, जो एक प्रकार का उत्तम राजयोग है।
 
बहुत कम लोग जानते हैं कि अपने शुभ ग्रहों के चलते ही नरेंद्र मोदी को इतना महत्वपूर्ण पद मिला और साथ ही देश विदेश घूमने का असीमित मौका। अगर ग्रहों की शुभ स्थिति पर गौर करें तो हमें दिखता है कि नरेंद्र मोदी की कुंडली में कई शुभ योग बने हुए हैं जो समय समय पर उनके उत्थान के साथ साथ उन्हें परेशानियों और शत्रुओं से भी बचाते हैं। जैसे गजकेसरी योग, मूसल योग, केदार योग, रूचक योग, वोशि योग, भेरी योग, चंद्र मंगल योग, नीच भंग योग, अमर योग, कालह योग, शंख योग तथा वरिष्ठ योग।
 
प्रधानमंत्री बनने से पहले ही जो हवा नरेंद्र मोदी के पक्ष में चली, जिस लोकप्रियता के कारण वे स्पष्ट बहुमत लेकर सत्तासीन हुए। उसका खुमार लोगों पर अभी तक बरकरार है। लोकसभा चुनाव 2019 में प्रचंड बहुमत हासिल करने के बाद चारों तरफ मोदी लहर ही छाई हुई है। बीजेपी के आगे सभी पार्टियां धराशायी हो गयी हैं। आमचुनाव में जीत के बाद पीएम मोदी दुबारा सत्ता पर आसीन हो गए हैंं।
 
2019 वर्ष का प्रवेश कन्या लग्न व तुला राशि में हुआ है। कन्या लग्न जो कि मोदी जी की राशि से नौंवा है। यह मोदी जी के लिये भाग्यवर्धक है।
मोदी जी की राशि से वर्ष राशि 12वीं है जो कि मोदी जी की कुंडली में व्यय भावको दर्शाती है। देश के प्रधानमंत्री होने के नाते नरेंद्र मोदी से कुछ और कड़े फैसले देखने को मिल सकते हैं जो कि प्रारंभ में काफी परेशानी वाले हैं। दूरदर्शिता के हिसाब से यह फैसले प्रधानमंत्री मोदी के आत्म सम्मान को बढ़ाने वाले हैं।
 
कुल मिलाकर देखा जाये तो 2019 में मार्च की शुरुआत से लेकर वर्ष के अगस्त के उतर्राध तक का समय इनके लिये मिला जुले परिणाम मिला हैं। एक और राहू इनकी राशि से भाग्य स्थान से परिवर्तन कर अष्टम भाव में चले जायेंगें वहीं केतु धन भाव में शनि के साथ आ जायेंगें। नरेंद्र मोदी को इस समय फाइनेंशियली काफी चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। उनके खर्चों में भी बढ़ोतरी की संभावनाएं इस साल बन रही हैं। बतौर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय कार्यरत हैं ऐसे में उनके द्वारा लिये गये फैसले आर्थिक तौर पर हो सकता है सफलता लाने वाले साबित न हों। अतीत में लिये फैसलों का नुक्सान भी इस समय उभर कर सामने आ सकता है।
 
कुल मिलाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिये आने वाला समय उपलब्धियों भरा रहने के आसार हैं। नरेंद्र मोदी को कॅरिअर में बेहतर अवसर मिलेगे। इसके अलावा जमीन व वाहन की प्राप्ति होगी। आराम की वस्तुओं का उपभोग करेंगे। उच्च पदों से सहयोग मिलेगा और नरेंद्र मोदी के पद व मान में बढोत्तरी होगी। नरेंद्र मोदी की इच्छाओं की पूर्ति होगी।
फलादेश 30 November 2021 से 30 November 2028 तक :
इस अवधि में मिले जुले फल मिलेंगे। नरेंद्र मोदी की इच्छाओं के विपरीत परिणाम हो सकते हैं इसलिये फल के प्रति अधिक उत्साह दिखाने वाली प्रवृति पर नियंत्रण रखें। छोटी मोटी बीमारी या हल्की दुर्घटना होने की संभावना भी है। जोखिम उठाने या सट्टेबाजी के लिये यह समय श्रेयस्कर नहीं है। पारिवारिक झंझटों के कारण मानसिक शांति भंग हो सकती है।
 
फलादेश 30 November 2028 से 30 November 2046 तक :
सही निर्णय लेने की नरेंद्र मोदी की क्षमता और योग्यता पर बुरा प्रभाव पड़ेगा। नरेंद्र मोदी अपने आस पास भ्रम का विश्व बना लेना चाहेंगे। झूठी आशाएं नरेंद्र मोदी के लक्ष्य को भ्रमित कर देंगी। सट्टेबाजी की प्रवृति पर पूरा अंकुश लगाये। मित्रों से संबंध मधुर नहीं रहेंगे। किसी मुकदमेबाजी के चक्कर में फस सकते हो। किसी के जमानती बनने की चेष्टा न करें। अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें। फूड पाइजनिंग के कारण पेट के रोग उभर सकते हैं।
 
फलादेश 30 November 2046 से 30 November 2062 तक :
इस अवधि में जीवन व्यापन सुविधा सम्पन्न रहेगा। पारिवारिक सुख प्राप्त करेंगे। सम्पती पर धन व्यय होगा। घर की वस्तुओं चल अचल सम्पती आदि पर व्यय होगा तथा व्यापार/व्यवसाय के विकास पर भी धन व्यय करेंगे। अचानक व अयाचित लाभ प्राप्त करेंगे। बड़ें अफसरों और शक्तिवान व्यक्तियों के सम्पर्क में आयेंगे। नरेंद्र मोदी की ख्याति और सम्मान में इजाफा होगा। व्यापार में बदलाव या नौकरी की पदोन्नति की संभावना है। धर्म के प्रति नरेंद्र मोदी का झुकाव रहेगा और पवित्र स्थलों की यात्रा करेंगे। इस पूरी अवधि में दिमाग सान्कूल रहेगा और सुख भोगेंगे।
 
 
 

तंत्राचार्य –

हर समस्या का 100% समाधान के लिए संपर्क करे : मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

Website : http://www.srimaakamakhya.com

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply