गुप्त शोधनी देवी साधना :

गुप्त शोधनी देवी साधना :
 
तंत्र शास्त्र में जब इन्सान आगे निकल जाता है ,तो वायु मण्डल मे उसे मंत्र सुनाई देने लगते है!
 
और स्वतः ही उसके मष्तिस्क मे मंत्र आने लगते है और विधी भी ,जैसे कोई अद्रश्य शक्ति कहती है की यैसा करने से ये होगा ।
 
ये साधना है शोधनी की जो की यक्ष यछनी की सन्तान है ये आपको आत्माओ को देखने और शक्तियो से बात करने की छमता आप मे विकशित करगी !
 
मंत्र : “ ऊँ शोधनी दैव्यायै प्रिय प्रिय स्वाहा ”
 
विधी- १०८ मंत्र रूद्राछ की माला से १००८ आहुति शाकिल्या से (घी,काले तिल,चीनी,जौ,हवन धूप) करनी है।
 
साधना के समय य किसी भी समय सारे शरीर मे करेन्ट सा दौडने लगे तो समझना चाहिये देवी आ गयी ,य सिर मे दर्द होगा बाँकि किसी किसी की अनुभूति भिन्न हो सकती है । इस शक्ति की साधना से साधक किसी के भी विषय में जानकारी प्राप्त कर सकता है ।
 
 

ज्योतिर्विद् पं. प्रदीप कुमार

सम्पर्क: मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

Website : http://www.srimaakamakhya.com

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply