कर्क राशि वार्षिक भविष्यफल 2020 :

कर्क राशि वार्षिक भविष्यफल 2020 :
 
कर्क राशिफल 2020 के अनुसार कहा जा सकता है कि यह वर्ष आपके लिये वैसा ही रहेगा जैसा आप इसे बनाना चाहते हैं। यानि इस वर्ष में सफलता का दारोमदार सिर्फ आप पर है। जैसी मेहनत आप करेंगें आपको फल भी उसके अनुसार ही मिलेगा। 2020 का वार्षिक राशिफल आपके लिये संकेत कर रहा है कि इस साल भाग्य के भरोसे न बैठें और कर्म करने में विश्वास रखें।
 
वर्ष की शुरुआत में कर्क राशि वालों के लिये चंद्रमा अष्टम भाव में रहेंगें जो कि शुरुआती समय में आपको स्वास्थ्य के मामले में थोड़ा चिंतित कर सकते हैं। स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहें। इस वर्ष में आपको प्रतिस्पर्धाओं में भाग लेने व अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के बड़े अवसर प्राप्त हो सकते हैं। दरअसल आपकी राशि से छठे स्थान में बुध, गुरु, सूर्य, शनि और केतु एक साथ विराजमान हैं जो कि आपको नये-नये अवसर मिलने के संकेत कर रहे हैं। बुध और शनि वर्ष कुंडली में विपरीत राजयोग भी बना रहे हैं जो कि यह दर्शाते हैं कि आपको अपनी कड़ी मेहनत का फल मिलेगा। यदि पिछले कुछ समय में आपको अपनी मेहनत के अनुसार फल नहीं मिला है तो इस समय भाग्य से आपके सारे गिले-शिकवे दूर हो सकते हैं। खेल जगत, सिनेमा से जुड़े जातकों को इस समय विदेश की यात्राओं से और विदेश में आयोजित होने वाली प्रतियोगिताओं में भाग लेने पर अच्छी सफलताएं मिल सकती हैं। कुछ कर दिखाने का मौका आपके लिये यही है। आईटी, इंजीनियरिंग, मीडिया, एक्टिंग, पोलिटिक्स आदि क्षेत्रों में यदि आप अपना करियर बनाने की सोच रहे हैं तो मंगल का स्वराशि का होना आपके लिये शुभ परिणाम लेकर आ सकता है।
 
24 जनवरी के बाद शनि का परिवर्तन होने से करियर के मामले में कुछ परिवर्तन के योग आपके लिये बन रहे हैं जो कि आपके लिये सफलता दायक भी हो सकते हैं। शनि वर्ष पत्रिका में आपकी राशि से शश महायोग बना रहे हैं। स्थिर व्यापार के लिये शनि का परिवर्तन आपके लिये बहुत शुभ परिणाम लेकर आने वाला रहेगा। शनि का सप्तम भाव में स्वराशिगत होना अविवाहित जातकों के लिये विवाह के योग भी बना रहा है। लेकिन मांगलिक कार्यों में थोड़ी परेशानियों का सामना भी करना पड़ सकता है।
 
30 मार्च को बृहस्पति का मकर राशि में आना जो कि आपकी राशि से भाग्य स्थान के स्वामी भी हैं अचानक से किसी मांगलिक कार्य के योग बनाने वाला रहेगा। साथ ही कार्य क्षेत्र में नई नई योजनाएं इस समय बननी शुरु होंगी। मकर राशि में शनि पहले से मौजूद हैं जिनकी उपस्थिति से गुरु और शनि की युति आपके लिये नीच भंग राजयोग बना रही है। ग्रहों के इस संयोग से हो सकता है शुरुआत में आपको अधिक परिश्रम करना पड़े लेकिन इसका लाभ भी आपको बहुत अच्छा मिलने के आसार हैं।
 
11 मई को शनि का वक्री होना आपके मांगलिक कार्य में, व्यापार में अड़चनें पैदा कर सकता है। हो सके तो इन कार्यों को कुछ समय के लिये रोक कर चलें। 14 मई को गुरु के वक्र होने से इसका प्रभाव आपके लाभ स्थान पर होने से लाभ की स्थिति बढ़ेगी साथ ही गुरु की सप्तम दृष्टि अपनी उच्च राशि पर होने से स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां भी दूर होने के आसार बनेंगें। पराक्रम में दृष्टि पड़ने से भी पराक्रम और छोटे भाई-बहनों से भी लाभ मिलना शुरु हो जाएगा।
 
30 जून को बृहस्पति धनु राशि में आ जाएंगे जो कि आपको स्वास्थ्य के नज़रिये से थोड़ा ध्यान रखने के योग बना रहे हैं। इस दौरान आपको पेट संबंधी गैस आदि की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। वज़न बढ़ने की चिंता भी आपको इस समय सता सकती है। कुल मिलाकर पर्सनली थोड़ा ध्यान रखने की आवश्यकता आपको इस समय में रहेगी।
 
आपके लिये परिस्थितियों में बदलाव की सुगबुगाहट सितंबर महीने में देखने को मिल सकती है। 13 सितंबर को गुरु के मार्गी होने से स्वास्थ्य के साथ-साथ करियर, लव, फाइनेंस हर तरह से समय आपके अनुकूल रहने के आसार हैं। भाग्य का पूरा साथ आपको मिलेगा। आपके पराक्रम में वृद्धि होगी और तरक्की के रास्ते आपके लिये खुलेंगें। है। 23 सितंबर को राहू आपकी राशि से 11वें स्थान में वृषभ राशि में आ जाएंगें जो कि आपकी राशि से लाभ का स्थान बनता है। लाभ स्थान में राहु के आने से आपको कार्यक्षेत्र में, धन के मामले में, यात्राओं में लाभ व सफलता मिलने की प्रबल संभावनाएं हैं। 29 सितंबर को शनि के मार्गी होने के पश्चात आप अपनी योजनाओं को अमलीजामा पहना सकते हैं। यहां से आपके लिये करियर में सफलता के द्वार खुल जाएंगें। कामकाज में तेजी रहने की उम्मीद कर सकते हैं।
20 नवंबर को गुरु पुन: मकर राशि में आ जाएंगें जिससे आपके लिये मांगलिक कार्य व स्थान परिवर्तन के योग बन रहे हैं। भाग्य में उन्नति के आसार भी नज़र आ रहे हैं। जीवन साथी का भी भरपूर सहयोग आपको मिल सकता है।
 
कुल मिलाकर कर्क वार्षिक राशिफल 2020 आपके लिये इस वर्ष काफी अच्छे परिणाम मिलने की संभावनाएं जता रहा है।
 
कर्क राशिफल 2020 के अनुसार प्रभावी उपाय :
• हनुमान जी को लाल चंदन की माला चढ़ाएं तथा बहते हुए पानी में गुड और तिल प्रवाहित करें।
• हनुमान जी की पूजा में लाल चंदन लड्डू लाल कपड़ा खोल आदि से मंगलवार तक पंचोपचार पूजा करें अथवा करवाएं।
• माता लक्ष्मी की पूजा करें तथा शुक्रवार के दिन गाय को चावल खिलाएं।
• गणपति स्तोत्र का पाठ करें।
• प्रात: काल चंदन का तिलक लगाएं तथा बृहस्पति मंत्र का जाप करें।
• भगवान शिव को बेलपत्र अर्पित करें।
• चंद्रशेखर स्तोत्र का पाठ करें।
• हनुमानजी के यंत्र की स्थापना करें।
 
 
 

तंत्राचार्य –

हर समस्या का स्थायी और 100% समाधान के लिए संपर्क करे : मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

Website : http://www.srimaakamakhya.com

जय माँ कामाख्या

Leave a Reply